भारतीय सेना की ताकत को बढ़ाने के लिए VL-SRSAM Missile का सफल परिक्षण

Spread the love

वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल का परीक्षण किया गया:-

भारतीय सेना की ताकत को बढ़ाने के लिए वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल(VL-SRSAM Missile) का 07/12/2021 को ओडिशा के तट से दूर एकीकृत परीक्षण रेंज,  चांदीपुर से रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा सफलतापूर्वक उड़ान परीक्षण किया गया।

VL-SRSAM Missile Stands For Vertical Launch Short Range Surface Air Missiles.

Vertical Launch Short Range Surface Air Missiles-VL-SRSAM missile
वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल(VL-SRSAM Missile)

वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल(VL-SRSAM Missile) के प्रमुख बिंदु:-

यह एक त्वरित प्रतिक्रिया सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है DRDO VL-SRSAM Missile System, जिसे भारतीय नौसेना के लिये  DRDO द्वारा स्वदेशी रूप से डिज़ाइन और विकसित किया गया है, इसका परिक्षण 7 दिसम्बर को चांदीपुर परिक्षण केंद्र से किया गया।

वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल(VL-SRSAM) प्रक्षेपण बहुत कम ऊंचाई पर एक इलेक्ट्रॉनिक लक्ष्य के खिलाफ एक ऊर्ध्वाधर लांचर से किया गया था।

आईटीआर, चांदीपुर द्वारा तैनात कई ट्रैकिंग उपकरणों का उपयोग करके स्वास्थ्य मापदंडों के साथ वाहन के उड़ान पथ की निगरानी की गई। सभी उप-प्रणालियों ने अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन किया।

परीक्षण प्रक्षेपण की निगरानी DRDO और भारतीय नौसेना के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा की गई थी। पहला परीक्षण 22 फरवरी 2021 को आयोजित किया गया था और यह कॉन्फ़िगरेशन और एकीकृत संचालन के लगातार प्रदर्शन को साबित करने के लिए पुष्टिकरण परीक्षण है।

यह भी पढ़ें:-

वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल(VL-SRSAM) उद्देश्य क्या है?:-

  • यह एक त्वरित प्रतिक्रिया सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है  जिसे भारतीय नौसेना के लिये  DRDO द्वारा स्वदेशी रूप से डिज़ाइन और विकसित किया गया है,  जिसका उद्देश्य समुद्री-स्किमिंग लक्ष्यों सहित निकट सीमा पर विभिन्न हवाई खतरों को निष्क्रिय करना है।
  • भारतीय नौसेना के जहाजों से मिसाइल के भविष्य के प्रक्षेपण के लिए आवश्यक नियंत्रक,  कनस्तरीकृत उड़ान वाहन,  हथियार नियंत्रण प्रणाली आदि के साथ वर्टिकल लॉन्चर यूनिट सहित सभी हथियार प्रणाली घटकों के एकीकृत संचालन को मान्य करने के लिए सिस्टम का शुभारंभ किया गया।
  • भारतीय नौसेना के जहाज़ों से मिसाइल के भविष्य के प्रक्षेपण के लिये इन प्रणालियों का सफल परीक्षण महत्त्वपूर्ण है।
  • यह हवाई खतरों के खिलाफ भारतीय नौसेना के जहाज़ों की रक्षा क्षमता को और बढ़ावा देगा। इसने भारतीय नौसैनिक जहाज़ों पर हथियार प्रणालियों के एकीकरण का मार्ग भी प्रशस्त किया है।
  • रक्षा मंत्री, श्री राजनाथ सिंह ने सफल उड़ान परीक्षण के लिए डीआरडीओ, भारतीय नौसेना और उद्योग को बधाई दी है और कहा है कि यह प्रणाली हवाई खतरों के खिलाफ भारतीय नौसेना के जहाजों की रक्षा क्षमता को और बढ़ाएगी।…..Join Telegram
  • रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव और डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ जी सतीश रेड्डी ने सफल उड़ान परीक्षण में शामिल टीमों की सराहना की और कहा कि इससे भारतीय नौसेना के जहाजों पर हथियार प्रणाली के एकीकरण का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

    VL-SRSAM Missile की खाशियत/ताकत क्या है:-

  • वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल(VL-SRSAM) एक स्वदेशी मिसाइल है,यह मिसाइल जमीन से हवा में मार करने में सक्षम है।
  • इस मिसाइल द्वारा भारतीय नौसेना आसमान से होने वाले हमलों से आसानी निपट सकती है, इस मिसाइल को जमीन से 90 डिग्री के एंगल पर भी फायर किया जा सकता है।
  •  DRDO (डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गनाइजेशन) के अधिकारियों ने बताया कि नौसैनिक युद्धपोतों के लिए डेवलप किया जा रहे इस एयर डिफेंस सिस्टम से 15 किमी दूरी तक(VLSRSAM range) के टारगेट को आसानी से तबाह किया जा सकता है। नेवी के सीनियर अफसर्स की मौजूदगी में यह परीक्षण किया गया।
  • इस मिसाइल में 50 से किमी. की दूरी की परिचालन सीमा है और टर्मिनल चरण में फाइबर ऑप्टिक घूर्णाक्षदर्शी/जाइरोस्कोप (Gyroscope) और सक्रिय रडार होमिंग के माध्यम से मिड्कोर्स जड़त्वीय निर्देशन की सुविधा है।

इन्हे भी देखें:-


Spread the love

Manish Kushwaha

Hello Visitor, मेरा नाम मनीष कुशवाहा है। मैं एक फुल टाइम ब्लॉगर हूँ, मैंने कंप्यूटर इंजीनियरिंग से डिप्लोमा किया है और मैंने BA गोरखपुर यूनिवर्सिटी से किया है। मैं Knowledgehubnow.com वेबसाइट का Owner हूँ, मैंने इस वेबसाइट को उन लोगो के लिए बनाया है, जो कम्पटीशन एग्जाम की तैयारी करते है और करंट अफेयर, न्यूज़, एजुकेशन से जुड़े आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं। अगर आप एक स्टूडेंट हैं, तो इस वेबसाइट को सब्सक्राइब जरूर करें।
View All Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.