इस बार का Republic Day 2022 Parade होने वाला है बहुत ही खास

Spread the love

Republic Day 2022 Parade:-

दोस्तों जैसा की आपको भी पता है, भारत अपना 75वां Republic Day 2022 मानाने जा रहा है, लेकिन इस बार का यह गणतंत्रा दिवस बहुत ही खास होने वाला है। स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष में 73th गणतंत्र दिवस परेड के अवसर पर, भारतीय सेना अपनी ताकत के साथ-साथ पुराने टैंकों और तोपों का प्रदर्शन करने जा रही है, जिनका इस्तेमाल 1965 और 1971 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में किया गया था।

इस बार का Republic Day 2022 Parade होने वाला है बहुत ही खास
इस बार का परेड इसलिए भी खास होने जा रही है, क्योंकि यह कुछ पुराने यादों और इतिहास को समेटे हुए है, जो 1965 और 1971 के युद्ध से जुड़े हुए है।

मेजर जनरल आलोक कक्कड़ ने रविवार को कहा कि चल रहे COVID​​​​-19 महामारी के मद्देनजर गणतंत्र दिवस परेड में मार्चिंग दस्तों में सैनिकों की संख्या 144 से घटाकर 96 कर दी गई है। Republic Day 2022 Parade सुबह 10 बजे के निर्धारित समय पर नहीं बल्कि 30 मिनट की देरी से शुरू होगी। सेना और केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के तीनों अंगों की कुल 16 मार्चिंग टुकड़ी राजपथ पर गणमान्य व्यक्तियों – राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री और रक्षा मंत्री – के आगे मार्च करेंगी।

Republic Day 2022 के मुख्य बिंदु:-

इस साल गणतंत्र दिवस परेड में भारतीय सेना के पुराने और नए युग का इस्तेमाल वर्दी और हथियारों के मामले में किया जाएगा, जबकि बीटिंग रिट्रीट समारोह में लेजर मैपिंग और ड्रोन शो को शामिल किया जाएगा। समारोह समाप्त होने के बाद नॉर्थ और साउथ ब्लॉक की दीवार पर लेजर से प्रोजेक्शन मैपिंग की जाएगी। इसके बाद एक ड्रोन शो होगा जिसमें 1,000 ड्रोन हिस्सा लेंगे।

दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, दिल्ली क्षेत्र के चीफ ऑफ स्टाफ और परेड के दूसरे-इन-कमांड अधिकारी ने कहा कि COVID मानदंडों का पालन करने में सक्षम होने के लिए, मार्चिंग दल में सैनिकों की संख्या उन्होंने कहा कि परेड को पहले 144 से घटाकर 96 कर दिया गया है। वे 12 पंक्तियों और आठ स्तंभों में मार्च करते हुए दिखाई देंगे।

यह भी पढ़ें:-

आपको भी मिलेगा फ्री में 30,000 रूपये National Family Benefit Scheme से

2022 के गणतंत्र दिवस परेड में जो बदलाव किये गए हैं उसमे शामिल है, मार्चिंग टुकड़ियों के लिए परेड को छोटा करके नेशनल स्टेडियम तक रखा गया है, जो पहले लाल किले पर समाप्त होता था। परेड कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल विजय कुमार मिश्रा और दूसरे कमांडर मेजर जनरल आलोक कक्कड़ के आगमन के बाद शुरू की जाएगी।

अधिकारी ने कहा, ” Republic Day 2022 Parade जो रायसीना हिल्स से शुरू होकर राजपथ, इंडिया गेट से लाल किले तक जाती है, अब इस बार केवल COVID-19 के मद्देनजर नेशनल स्टेडियम तक जाएगी। इस बार केवल झांकिया ही लाल किले तक जाएँगी ”

“गणतंत्र दिवस परेड में कुल 16 दल होंगे जिनमे, भारतीय सशस्त्र बलों के 8 दल होंगे, जिसमें भारतीय सेना के 6 दल शामिल होंगे, भारतीय वायु सेना (IAF) और भारतीय नौसेना में से एक-एक, चार केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के, दो एनसीसी के और एक-एक दिल्ली पुलिस और एनएसएस के दल होंगे। इस बार के परेड की सबसे खास बात यह है, कि इस बार पैराशूट रेजिमेंट दल नवीनतम टैवर राइफल्स के साथ नयी लड़ाकू वर्दी में नजर आएंगे।

पैराशूट रेजिमेंट के आकस्मिक कमांडर मेजर विशेष ने कहा है, “गणतंत्र दिवस परेड में नई लड़ाकू वर्दी पहनना एलीट फोर्स पैराशूट रेजिमेंट के लिए बहुत गर्व का क्षण होगा।”
सेना आयुध कोर के आकस्मिक कमांडर लेफ्टिनेंट मनीषा बोहरा ने कहा, “गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेना हम सभी के लिए बहुत सम्मान की बात है और हम सभी इसके लिए बहुत कठिन अभ्यास कर रहे हैं।”……Join Telegram

Republic Day 2022 Chief Guest और थीम :-

गणतंत्र दिवस को सिर्फ भारत सिर्फ एक उत्सव के रूप में नहीं मनाता कि, इस दिन हमारे संबिधान की स्थापना हुयी थी। बल्कि, इसे मानाने का उद्देश्य विश्व को अपनी ताकत और भारत की वैश्विक राजनयिक सम्बन्धो को दर्शना है। इसी राजनयिक सम्बन्ध को मजबूत करने और दुनिया को अपने राजनयिक सम्बंद दिखने के लिए हर साल किसी न किसी देश के नेता को मुख्य अतिथि बनाया जाता था। लेकिन इस साल COVID-19 महामारी के कारण किसी को भी मुख्य अतिथि नहीं बनाया गया है।

गणतंत्र दिवस 2022 की थीम:-

जैसा की आपको भी पता है, इस बार का गणतंत्र दिवस स्पेशल है, क्योंकि इस साल कुछ पुराने युद्ध से सेवानिवृत हथियारों को भी शामिल किया जा रहा है। ताकि देश के 1965 और 1971 युद्ध के पराक्रम को दिखाया जा सके और देश इस साल अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस भी मना रहा है, इसीलिए गणतंत्र दिवस 2022 की थीम “[email protected]” रखी गयी है।

गणतंत्र दिवस परेड में कौन-2 दस्ते और हथियार होंगे शामिल:-

इस बार का परेड इसलिए भी खास होने जा रही है, क्योंकि यह कुछ पुराने यादों और इतिहास को समेटे हुए है, जो 1965 और 1971 के युद्ध से जुड़े हुए है।

मेजर जनरल आलोक कक्कड़ ने कहा, “सामने की ओर, कवच स्तंभ में, आप PT-76 और सेंचुरियन टैंकों को देखेंगे, जिन्होंने 1965 और 1971 के युद्धों में भाग लिया था। इसके बाद मुख्य युद्धक टैंक अर्जुन होगा, इसके अलावां दो मोटर साइकिल फॉर्मेशन होंगे। जिनमे महिला टीम बीएसएफ की और पुरुष टीम आईटीबीपी की होगी। “

इस बार के परेड में कुल 16 मार्चिंग दस्ते होंगे। इनमें से आठ भारतीय सशस्त्र बलों के, चार केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के, दो एनसीसी के और एक-एक दिल्ली पुलिस और एनएसएस के होंगे। मेजर जनरल ने कहा, “15 फॉर्मेशन में भारतीय वायुसेना के 75 विमान फ्लाईपास्ट करेंगे।”

इस बार कुल 75 लड़ाकू विमान भी अपना करतब दिखाएंगे, जिनमे रफाल, जैगुआर, नेवी का MIG-29K और P8i surveillance aircraft आदि शामिल होंगे, हालाँकि इस बार भारत निर्मित लड़ाकू बिमान तेजस भाग नहीं लेगा। हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा से शुरू होने वाली 90 मिनट की परेड में थल सेना, वायुसेना और नौसेना के फ्लाई पास्ट शामिल होंगे।

हालांकि, परेड शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पहुंचेंगे, इसके अलावा 75/24 विंटेज तोप और टोपक आर्मर्ड पर्सनल कैरियर व्हीकल भी परेड का हिस्सा होंगे। 75/24 तोप भारत की पहली स्वदेशी तोप थी और इसने 1965 और 1971 के युद्धों में भाग लिया था।

इस बार का परेड में पुराने सैन्य हार्डवेयर के अलावा, आधुनिक अर्जुन टैंक, बीएमपी -2, धनुष तोप, आकाश मिसाइल सहित कुल 14 मशीनीकृत तोपें। गणतंत्र दिवस परेड में सिस्टम, सावत्रा ब्रिज, टाइगर कैट मिसाइल और तरंग इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सिस्टम भी मौजूद रहेंगे ।

इस साल, परेड में कुल छह मार्चिंग दस्ते हैं, जिनमें भारतीय सेना की 61 कैवेलरी रेजिमेंट शामिल है, जिसमें राजपूत रेजिमेंट, असम जैकलाई, सिखलाई, एओसी और पैरा रेजिमेंट शामिल हैं।
इसके अलावा वायुसेना, नौसेना, सीआरपीएफ, एसएसबी, दिल्ली पुलिस, एनसीसी और एनएसएस की मार्चिंग टीमें और बैंड भी हिस्सा लेंगे। इसके साथ ही बीएसएफ और आईटीबीपी दस्ते की ‘सीमा भवानी’ बाइक स्टंट करती नजर आएंगी। सीमा भवानी बीएसएफ की महिला जवानों का दस्ता है।

2022 परेड में शामिल होने वाली झांकियां:-

Republic Day 2022 Parade में राजपथ पर कुल 25 झांकियां होंगी, जिनमें 12 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश, नौ केंद्रीय मंत्रालय और विभाग, दो डीआरडीओ, सेना, वायु सेना और नौसेना से एक-एक शामिल हैं। इसके अलावा वायुसेना, नौसेना, सीआरपीएफ, एसएसबी, दिल्ली पुलिस, एनसीसी और एनएसएस की मार्चिंग टीमें और बैंड भी हिस्सा लेंगे।

  • Note:-

दोस्तों हम आशा करते हैं, की आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा इसलिए आपसे निवेदन है। कि, इस पोस्ट को पढ़ने के बाद ज्यादा से ज्यादा आगे शेयर करें और हमे सप्पोर्ट करें। हम इस वेबसाइट पर करंट अफेयर और न्यूज़ तथा एजुकेशन से जुड़े आर्टिकल्स पोस्ट करते है। आप बेल नोटिफिकेशन को भी Allow कर सकते हैं ताकि आपको नए पोस्ट की नोटिफिकेशन मिलती रहे।

इन्हे भी देखें:-

भारत ने शुरू किया ब्रह्मोस मिसाइल का निर्यात फ्लिपिंस खरीदेगा मिसाइल

रियर एडमिरल केपी अरविंदन को नौसेना डॉकयार्ड (मुंबई) का एडमिरल अधीक्षक बनाया गया


Spread the love

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.