अमेरिका ने रचा इतिहास बिना पायलट के उड़ाया Black Hawk Helicopter, ऑटोमेशन की दुनिया में नयी कामयाबी

Spread the love

अभी हाल ही में अमेरिका ने Black Hawk Helicopter को बिना किसी पायलट के उड़ाकर एक नया कीर्तिमान हाशिल किया। अभी तक हमने सिर्फ सुना था कि हेलीकाप्टर पायलट द्वारा ही उड़ाया जाता था। लेकिन अमेरिका ने बिना पायलट के हेलीकाप्टर उड़ाकर इतिहास रच दिया। जहाँ यह अमेरिका के लिए ख़ुशी की खबर है, वही russia और चाइना के लिए टेंशन की खबर है।

अमेरिका ने रचा इतिहास बिना पायलट के उड़ाया Black Hawk Helicopter
अमेरिका ने Black Hawk Helicopter को बिना किसी पायलट(Without Pilots) के उड़ाकर एक नया कीर्तिमान हाशिल किया।

क्योंकि ये दोनों देश अमेरिका के लिए हमेशा चुनौती पेश करते रहते है। ऐसे में अमेरिका ने Black Hawk Helicopter उड़ाकर एक नया युग आरम्भ किया, जिससे युद्ध क्षेत्र में बिना पायलट के हेलीकाप्टर काफी फायदेमंद शाबित होगा, क्योंकि इसमें पायलट घायल नहीं होंगे जब कभी हेलीकाप्टर पर हमला होता है। इन्हे एक जगह बैठ कर कण्ट्रोल किया जा सकता हैं।

अमेरिका ने उड़ाया बिना पायलट के Black Hawk Helicopter:-

अभी हाल ही में USA ने ऑटोमेशन और वार फेयर की दुनिया में अमेरिका की सुपर मशीन Black Hawk हेलीकॉप्टर ने इतिहास रच दिया है। दुनिया में पहली बार अमेरिका का Black Hawk Helicopter ने उड़ान भरकर नया इतिहास रच दिया है। अमेरिका के इस हेलीकॉप्टर ने 5 फरवरी को लगभग 4000 फीट की ऊंचाई पर 115 से 125 मील प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरी और विज्ञान की दुनिया में एक नया अध्याय जोड़कर कीर्तिमान हासिल किया।

हालाँकि, इस एक्सपेरिमेंट फ्लाइट को अमेरिका के केंटुकी शहर में हेलीकाप्टर को उडाकर किया गया और यहां कम्प्यूटर सिमुलेशन द्वारा एक आभासी शहर तैयार किया गया, जहां इमारतों के अलावा अन्य रुकावटों को दिखाया गया। इस हेलीकाप्टर को सभी इमारतों और रुकावटों को पार करके सफलता हासिल करना था, जिसको Black Hawk हेलीकाप्टर सफलतापूर्वक पार किया।

यह भी पढ़ें:-

दिव्यांगजनों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए ‘SamajikAdhikaritaShivir’ और ‘एक एकीकृत मोबाइल सेवा वितरण वैन’ लॉन्च

रेटिंग एजेंसी क्या है और वे क्यों मायने रखती हैं?, ये एजेंसियां क्यों है चर्चा में

अलियास नामक अमेरिकी रक्षा अनुसंधान कार्यक्रम के हिस्से के रूप में पूरी तरह से कंप्यूटर संचालित विमान का परीक्षण किया जा रहा था, और परीक्षण केंटकी में फोर्ट कैंपबेल से बाहर हुआ था। रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, विशेष रूप से सुसज्जित हेलिकॉप्टर ने एक आदर्श लैंडिंग करने से पहले कल्पना की गई इमारतों से बचते हुए, नकली सिटीस्केप के माध्यम से 30 मिनट तक उड़ान भरी।

3 लक्ष्य को टारगेट करके किया गया परिक्षण:-

अलियास नामक अमेरिकी रक्षा अनुसंधान कार्यक्रम के हिस्से के रूप में पूरी तरह से कंप्यूटर संचालित विमान का परीक्षण किया जा रहा था, और परीक्षण केंटकी में फोर्ट कैंपबेल से बाहर हुआ था। रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, विशेष रूप से सुसज्जित हेलिकॉप्टर ने एक आदर्श लैंडिंग करने से पहले कल्पना की गई इमारतों से बचते हुए, नकली सिटीस्केप के माध्यम से 30 मिनट तक उड़ान भरी।
एलियास के प्रोग्राम मैनेजर स्टुअर्ट यंग ने पॉपुलर साइंस को बताया कि इस तरह की स्वायत्त उड़ान तकनीक के तीन मुख्य लक्ष्य हैं। पहली सुरक्षा है, दूसरी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त होने जैसी आपदाओं को रोकने के लिए इन-फ्लाइट सहायता है, जबकि तीसरा लागत में कमी है।

Black Hawk Helicopter को बिना पायलट के उड़ाने के उद्देश्य और फायदे:-

द नेक्स्ट वेब की रिपोर्ट के अनुसार, उपनाम कार्यक्रम का उद्देश्य मौजूदा सैन्य विमानों में “हटाने योग्य किट” को “उच्च-स्तरीय स्वचालन को बढ़ावा देने” के लिए रखना है। यह सेना को परिचालन में लचीलापन प्रदान करेगा, क्योंकि यह अनिवार्य रूप से उन्हें दिन या रात के हर समय कार्य करने में सक्षम बनाएगा, यह तकनिकी पायलटों के साथ और बिना पायलटों के, और विभिन्न प्रकार की कठिन परिस्थितियों में, जैसे कि अपमानित दृश्य वातावरण में विमान संचालित करने में सक्षम बनाता है।

क्या किसी अन्य देश के पास है, यह हेलीकाप्टर:-

आपके मन में यह सवाल भी उठ रहा होगा की क्या यह हेलीकॉटर किसी अन्य देश के पास है?, लेकिन अमेरिका के इन अत्याधुनिक Black Hawk हेलीकॉप्टर के 2 सेट अफगानिस्तान में इस समय राज कर रहे तालिबान के पास भी हैं लेकिन यह पायलटों द्वारा ही उड़ाया जा सकता है। क्योंकि, अफगानिस्तान की धरती छोड़ते समय अमेरिका ने अपने बहुत से युद्धक हथियारों जैसे – हेलीकाप्टर, लड़ाकू जहाज और टैंको के साथ अन्य हथियारों को भी वही नष्ट कर दिया था, ताकि तालिबानी इसका उपयोग न कर पाएं।

लेकिन तालिबानियों ने इसका भी तोड़ निकल लिया। अफगान सेना के इंजीनियर ग्रुप ने इन Black Hawk Helicopter को ठीक कर लिया। क्योंकी, अफगान सेना के पायलट नकीब हिम्मत ने खुद अपने फेसबुक पेज पर इसकी जानकारी दिया था।

Source- Reuters&Aaj Tak

इन्हे भी पढ़ें:-

वैज्ञानिकों ने खोज निकाला सूर्य की तरह नाभिकीय संलयन से ऊर्जा बनाने का तरीका

वैज्ञानिको ने खोजा हिमालय से 4 गुना बड़े दो Supermountains


Spread the love

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.