25 मार्च 2022 से जुड़े सभी Current Affairs- Current Affairs Today

Spread the love

1. Wings India 2022 का आयोजन- Current Affairs

नागरिक उड्डयन पर एशिया का सबसे बड़ा आयोजन विंग्स इंडिया 2022 आज हैदराबाद के बेगमपेट हवाई अड्डे पर शुरू हो गया। भारतीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय (MoCA) और फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FICCI) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित, इस वर्ष के आयोजन का विषय ‘इंडिया@75: एविएशन इंडस्ट्री के लिए नया क्षितिज’ है।

विंग्स इंडिया 2022(Wings India 2022), एक द्विवार्षिक शो, 24-27 मार्च 2022 तक आयोजित किया जा रहा है, जिसमें पहले दो दिन व्यावसायिक दिन होंगे और शेष आम जनता के लिए होंगे। इस कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन श्री ज्योतिरादित्य एम सिंधिया, नागरिक उड्डयन मंत्री, भारत सरकार द्वारा शुक्रवार, 25 मार्च 2022 को किया जाएगा।

2. सेना प्रमुख ने डोगरा रेजीमेंट की इकाइयों को राष्ट्रपति के रंग भेंट किए

24 मार्च को डोगरा रेजिमेंटल सेंटर, फैजाबाद (यूपी) में आयोजित एक प्रभावशाली रंग प्रस्तुति परेड के दौरान थल सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे ने डोगरा रेजिमेंट की दो बटालियनों, अर्थात् 20 डोगरा और 21 डोगरा को प्रतिष्ठित ‘राष्ट्रपति के रंग’ प्रदान किए। 2022.

रंग प्रस्तुति परेड को जनरल एनसी विज (सेवानिवृत्त) पूर्व सीओएएस और डोगरा रेजिमेंट के मानद कर्नल, दक्षिणी कमान और मध्य कमान के सेना कमांडरों के साथ बड़ी संख्या में सेवारत और सेवानिवृत्त कर्मियों ने भी देखा।

परेड की समीक्षा के बाद, सेना प्रमुख ने सैन्य गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में डोगरा रेजिमेंट की समृद्ध परंपराओं की सराहना की, जिसमें संचालन, प्रशिक्षण और खेल शामिल हैं। सीओएएस ने कम समय में उल्लेखनीय प्रदर्शन के लिए नवगठित इकाइयों की भी सराहना की और सभी रैंकों को गर्व के साथ राष्ट्र की सेवा करने के लिए शुभकामनाएं दीं।

3. भारत का वार्षिक माल निर्यात

भारत का वार्षिक माल निर्यात पहली बार 400 अरब डॉलर का आंकड़ा पार कर गया है, सरकार ने बुधवार को घोषणा की, इंजीनियरिंग उत्पादों, परिधान और वस्त्र, रत्न और आभूषण और पेट्रोलियम उत्पादों सहित व्यापार के शिपमेंट में वृद्धि से उत्साहित है। “पहली बार” विकास को चिह्नित करते हुए, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे हासिल करने के लिए निर्माताओं, किसानों और बुनकरों को बधाई दी।

यह भी पढ़ें:-

Lapsus$ Hacker Group क्या है, जिसने माइक्रोसॉफ्ट, सैमसंग, ओक्टा, एनवीडिया को लक्षित(Hack) किया है?

Hypersonic Missiles क्या होती हैं?, इसके फायदे और अन्य जानकारी

4. रूफटॉप सोलर प्रोग्राम

हाल ही में रूफटॉप सोलर प्रोग्राम फेज- II (Rooftop Solar Programme Phase-II) को नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। केद्रीय वित्तीय सहायता (Central Financial Assistance – CFA) के माध्यम से आवासीय क्षेत्र में इस कार्यक्रम के तहत 4000 मेगावाट रूफटॉप सोलर (RTS) क्षमता वृद्धि का लक्ष्य रखा गया है।

निवासी कल्याण संघ (Residential Welfare Associations) और ग्रुप हाउसिंग सोसायटी हेतु 500 किलोवाट की अधिकतम क्षमता वाली सामान्य सुविधाओं के लिये CFA को 20% तक सीमित कर दिया गया है। रूफटॉप सोलर एक फोटोवोल्टिक प्रणाली है जिसमें बिजली पैदा करने वाले सौर पैनल आवासीय या व्यावसायिक भवन या संरचना की छत पर लगे होते हैं।

रूफटॉप माउंटेड सिस्टम मेगावाट रेंज में क्षमता वाले ग्राउंड-माउंटेड फोटोवोल्टिक पावर स्टेशनों की तुलना में छोटे होते हैं। आवासीय भवनों पर रूफटॉप पीवी सिस्टम में आमतौर पर लगभग 5 से 20 किलोवाट (kW) की क्षमता होती है जबकि वाणिज्यिक भवनों पर 100 किलोवाट या उससे अधिक पहुँच जाती हैं।

5. ब्रिक्स टीका अनुसंधान एवं विकास केंद्र

हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया द्वारा ‘ब्रिक्स टीका अनुसंधान एवं विकास केंद्र’ (BRICS Vaccine R&D Centre) लॉन्च किया गया। चीन के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री वांग झिगांग ने लॉन्च समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने ब्रिक्स देशों से टीकों के उचित वितरण को बढ़ावा देने तथा ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करने का आग्रह किया।

अनुसंधान एवं विकास केंद्र, टीकाकरण संसाधनों को सुव्यवस्थित करने और सुरक्षित तथा प्रभावकारी कोविड-19 टीकों के लिये समान पहुंँच की सुविधा प्रदान करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगा तथा पारस्परिक लाभ के लिये देशों के बीच अनुभव साझा करने और सहयोग करने में मददगार साबित होगा।

भारत द्वारा WHO की 65-70% वैक्सीन आवश्यकताओं को पूरा किया जाता है और साथ ही 150 से अधिक देशों को टीकों की आपूर्ति की जाती है भारत विश्व के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माण उद्योगों में से एक है। यह केंद्र टीके के विकास और अनुसंधान के क्षेत्र में ब्रिक्स देशों के लाभों को एक साथ जोड़ने में मदद करेगा जो ब्रिक्स देशों की संक्रामक बीमारियों को नियंत्रित करने और उनसे बचने की क्षमता को बढ़ावा देगा।

7. विश्व क्षय रोग दिवस

प्रत्येक वर्ष 24 मार्च को दुनिया भर में विश्व क्षय रोग दिवस का आयोजन किया जाता है। इस दिवस का प्राथमिक उद्देश्य क्षयरोग/तपेदिक से स्वास्थ्य, समाज और अर्थव्यवस्था को होने वाले नुकसान के प्रति जागरूकता बढ़ाना तथा इस वैश्विक महामारी की रोकथाम हेतु किये जा रहे प्रयासों में तेज़ी लाना है।

गौरतलब है कि वर्ष 1882 में क्षय रोग (TB) के जीवाणु की खोज करने वाले डॉ. रॉबर्ट कोच की स्मृति में प्रत्येक वर्ष 24 मार्च को विश्व क्षय रोग दिवस मनाया जाता है, 24 मार्च 1882 में ही डॉ. रॉबर्ट कोच ने टीबी बैक्टीरिया की खोज की थी। क्षयरोग विश्व में सबसे घातक संचारी रोगों में से एक है। टीबी या क्षय रोग बैक्टीरिया (माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरकुलोसिस) के कारण होता है जो फेफड़ों को सबसे अधिक प्रभावित करता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के आँकड़ों के अनुसार अकेले वर्ष 2019 में दुनिया भर में क्षयरोग (टीबी) के कारण कुल 1.4 मिलियन लोगों की मृत्यु हुई थी। इस तरह क्षयरोग विश्व भर में होने वाली मौतों के प्रमुख 10 कारणों में से एक है। ‘इनवेस्ट टू एंड टीबी. सेव लाइव्स’ (Invest to End TB. Save Lives) वर्ष 2022 में विश्‍व क्षयरोग दिवस की थीम है।

8. ‘सुरक्षा कवच 2’

हाल ही में पुणे के लुल्लानगर में भारतीय सेना के अग्निबाज़ डिवीजन और महाराष्ट्र पुलिस के बीच ‘सुरक्षा कवच 2’ नामक एक संयुक्त अभ्यास का आयोजन किया गया। इस अभ्यास में भारतीय सेना की काउंटर टेररिज़्म टास्क फोर्स (CTTF), महाराष्ट्र पुलिस के आतंकवाद-रोधी दस्ते के साथ-साथ डॉग स्क्वॉड, क्विक रिएक्शन टीम्स (QRTs) तथा सेना व पुलिस की बम डिस्पोजल टीमों ने हिस्सा लिया।

यह अभ्यास पुणे में किसी भी आतंकवादी हमले का मुकाबला करने हेतु पुलिस और सेना द्वारा की गई प्रक्रियाओं और अभ्यासों के समन्वय के उद्देश्य से आयोजित किया गया था। इस अभ्यास का आयोजन दोनों संगठनों के बीच अंतःक्रियाशीलता में सुधार करने के लिये किया गया।

9. संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास- ‘दुस्तलिक’ (DUSTLIK)

भारतीय और उज़्बेकिस्तान सेनाओं के बीच संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास- ‘दुस्तलिक’ (DUSTLIK) का तीसरा संस्करण 22 मार्च से 31 मार्च 2022 तक यांगियारिक (उज़्बेकिस्तान) में आयोजित किया जा रहा है।

दुस्तलिक ‘ सैन्य अभ्यास के बारे में:-

  • यह अभ्यास संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत अर्द्ध-शहरी इलाकों में आतंकवाद विरोधी अभियानों पर केंद्रित होगा।
  • भारत की ओर से ‘ग्रेनेडियर्स बटालियन’ को इस अभ्यास के लिये नामित किया गया है। यह बटालियन भारतीय सेना की अत्यधिक सुशोभित बटालियनों में से एक है।
  • यह प्रशिक्षण कार्यक्रम मुख्य रूप से सामरिक स्तर के अभ्यासों को साझा करने और एक दूसरे से सर्वोत्तम प्रथाओं को सीखने पर केंद्रित होगा।
  • प्रशिक्षण कार्यक्रम मुख्य रूप से सामरिक स्तर के अभ्यासों को साझा करने और एक दूसरे के अभ्यासों को सीखने पर केंद्रित होगा।
  • इसका उद्देश्य दो सेनाओं के बीच समझ, सहयोग और अंतःक्रियाशीलता को बढ़ाना है।
  • दुस्तलिक (DUSTLIK) का अंतिम संस्करण मार्च 2021 में रानीखेत (उत्तराखंड) में आयोजित किया गया था।

महत्त्व:- मध्य एशियाई क्षेत्र में सुरक्षा और संपर्क हेतु उज़्बेकिस्तान भारत के लिये महत्त्वपूर्ण है तथा ईरान भी अफगानिस्तान के संबंध में भारत के लिये एक महत्त्वपूर्ण विकल्प है अफगानिस्तान संघर्ष से उत्पन्न सुरक्षा चिंताएंँ मध्य एशिया में भारत की भागीदारी के समक्ष प्रमुख चुनौतियों में से एक है।

इन्हे भी देखें:-

Par Tapi and Narmada river-linking project क्या है, और लोग इसका विरोध क्यों कर रहे हैं?

भारतीय सेना और सेशेल्स सेना के बिच The 9th Joint Military Exercise LAMITIYE-2022 का आयोजन


Spread the love

Manish Kushwaha

Hello Visitor, मेरा नाम मनीष कुशवाहा है। मैं एक फुल टाइम ब्लॉगर हूँ, मैंने कंप्यूटर इंजीनियरिंग से डिप्लोमा किया है और मैंने BA गोरखपुर यूनिवर्सिटी से किया है। मैं Knowledgehubnow.com वेबसाइट का Owner हूँ, मैंने इस वेबसाइट को उन लोगो के लिए बनाया है, जो कम्पटीशन एग्जाम की तैयारी करते है और करंट अफेयर, न्यूज़, एजुकेशन से जुड़े आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं। अगर आप एक स्टूडेंट हैं, तो इस वेबसाइट को सब्सक्राइब जरूर करें।
View All Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.